Indian Patients Have Corona Virus Like 17 Countries

कोरोनावायरस स्ट्रक्चर कलर शेप रिसर्च सेंटर स्टडीज कोविद 19 इन इंडिया गुजरात मध्य प्रदेश आगरा

Corona Causing Havoc in Indian Patients by Changing the Appearance of Virus Like 17 Countries

भारतीय मरीजों में 17 देशों जैसा वायरस, रंग-रूप बदलकर तबाही मचा रहा कोरोना

कोरोना वायरस (Corona Virus) इतना शातिर है कि यह जलवायु और स्थान के आधार पर अपना आकार बदलकर लोगों को संक्रमित कर रहा है। वैज्ञानिक भी इससे हैरान हैं। जब वैज्ञानिक एक निष्कर्ष पर आने की कोशिश करते हैं, तो कोरोना (Corona) का एक नया रूप सामने आता है।

मुख्य आकर्षण

  • दुनियाभर में कोरोना वायरस का घातक प्रकोप जारी है
  • सभी देशों में वायरस के अनुसार जलवायु परिवर्तन 

कोरोना वायरस (Corona Virus) का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसका एक मुख्य कारण कोरोना वायरस (Corona Virus) का बहरूपिया होना भी है। यह प्रत्येक देश, प्रत्येक राज्य में अलग-अलग तरीके से आ रहा है। पहले, तीनों रूपों A, B और C रूप हो रहे थे। तो S और L के फॉर्म भारत में भी दिखाई दिए। जिस क्षण वैज्ञानिक इसके किसी रूप की जांच करते हैं, एक अलग रूप सामने आता है।

ये भी पढ़ें - कोविड-19 (Covid-19) सुरक्षा Tips: Coronavirus Safety Tips in Hindi

इस बहरूपिया वायरस के बारे में पता चलने पर आप भी हैरान रह जाएंगे। वास्तव में, कोरोना वायरस (Corona Virus) इतना शातिर है कि यह जलवायु और जगह के अनुसार आकार बदलकर लोगों को संक्रमित कर रहा है। वैज्ञानिक भी इससे हैरान हैं। जब वैज्ञानिक एक निष्कर्ष पर आने की कोशिश करते हैं, तो कोरोना (Corona) का एक नया रूप सामने आता है। आइए जानते हैं कि यह कोरोना वायरस (Corona Virus) विभिन्न रूपों में लोगों को कैसे मार रहा है।




अपनी रंग-रूप बदल रहा है बदल रहा है कोरोना वायरस 


दरअसल, कोरोना (Corona) के बदलते चेहरे की कहानी वुहान से शुरू होती है। चाइना नेशनल बायोइंफॉर्मेशन सेंटर के एक अध्ययन में, 10,000 नमूनों के आधार पर 4,300 वायरस उत्परिवर्तन दर्ज किए गए। इसी समय, कोरोना (Corona) में तीन उपभेदों, A, B और C पाए गए थे। लेकिन भारतीय वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि कुछ उपभेद हैं जिनकी ताकत का अनुमान नहीं लगाया जा सकता है।

ये भी पढ़ें - Time of Coronavirus WHO warns Fight against Malaria

भारतीय वैज्ञानिकों के अनुमानों का आधार देश में विभिन्न रोगियों में विभिन्न परिवर्तनों के साथ कोरोना वायरस (Corona Virus) की उपस्थिति थी। जैसा कि इटली के नागरिक जयपुर में संक्रमित पाए गए, उन्होंने चेक गणराज्य, स्कॉटलैंड, फ़िनलैंड, इंग्लैंड, स्पेन, शंघाई और आयरलैंड में फैले वायरस को समानता दिखाई। जबकि दिल्ली के मरीज के संपर्क में आने वाले आगरा के मरीजों में संक्रमण का तनाव नीदरलैंड, हंगरी, फ्रांस, जर्मनी, ब्राजील और स्विटजरलैंड जैसा था।




L वायरस तनाव S की तुलना में अधिक घातक है


इस बीच, वैज्ञानिकों ने भारतीय रोगी में वायरस के पांचवें परिवर्तन को भी देखा। अब तक, 17 से अधिक देशों के वायरस भारतीय रोगियों में पाए गए हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि भारतीय रोगियों में अब तक पाए गए वायरस किसी भी देश के वायरस की तरह नहीं हैं।

ये भी पढ़ें - Coronavirus Prevention Tips in Hindi | Covid - 19

केरल में, S वायरस ने कहर बरपाया, जबकि मध्य प्रदेश और गुजरात में L-स्ट्रेन कोरोनो वायरस (Corona Virus) लगातार मौतों की संख्या बढ़ाने के लिए काम कर रहे हैं। प्रारंभिक रिपोर्टों से पता चलता है कि L स्ट्रेन के साथ कोरोना वायरस (Corona Virus) S स्ट्रेन वायरस की तुलना में अधिक घातक माना जाता है।




मध्य प्रदेश और गुजरात में कोरोना के L स्ट्रेन वायरस ने मचाया कहर 


भारत में कोरोना का सबसे खतरनाक रूप L तनाव है। इसने गुजरात और मध्य प्रदेश में कहर बरपाया है। स्थिति इतनी खराब है कि इन दोनों राज्यों में कोरोना के मामले हर दिन बढ़ रहे हैं। कुछ तो है जिसकी वजह से इन राज्यों में कोरोना (Corona) कहर ढा रहा है। भारतीय वैज्ञानिक अपने स्तर पर शोध में लगे हुए हैं।

ये भी पढ़ें - Do Not Do This Work Before Blood Pressure Blood Test

राज्य भी अपने स्तर पर इस रहस्य को ढंकने की कोशिश कर रहे हैं कि किस तरह कोरोना (Corona) उन पर घातक मोड़ ले रहा है। गुजरात कोरोना (Corona) संक्रमण के मामले में देश में दूसरे स्थान पर है। यहां, रोगियों की संख्या 3,300 से अधिक हो गई है, जबकि एक सौ से अधिक लोग मारे गए हैं। गुजरात बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर के एक वैज्ञानिक ने भी गुजरात में L तनाव की पुष्टि की।




कोरोना के बदलते रूप की जांच चुनौतीपूर्ण हो गई


मध्यप्रदेश के इंदौर हॉटस्पॉट में कोरोना के नए रूप के अध्ययन की तैयारी जोरों पर है। राज्य भर में रोगियों की संख्या 2,000 से अधिक हो गई है। कोरोना (Corona) की लड़ाई कई मोर्चों पर लड़ी जाती है। एक तरफ चीन से आए वायरस से लोगों को बचाने की चुनौती है, वहीं दूसरी तरफ इस वायरस को जल्द से जल्द तोड़ने की कोशिश पर शोध किया जा रहा है।


आगरा में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े

कोरोना वायरस मानव जाति पर अब तक का सबसे गंभीर खतरा है

Final words - Entertainment, Sarkari Job Alert, Education News in Hindi की Update खबर सब से पहले प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट www.onlinenews.live से जुड़े रहे

ये भी पढ़ें - What Is Avocado and What Are the Benefits and
Disadvantages of Eating It?

Post a comment

0 Comments