COVID-19: दुनिया में एक अरब से ज्यादा लोग हो सकते हैं, बेहद गरीब, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

Coronavirus (Covid-19): कोरोनावायरस दुनिया भर में एक अरब से अधिक लोगों के गरीब होने का कारण बन सकता है


COVID-19: दुनिया में एक अरब से ज्यादा लोग हो सकते हैं, बेहद गरीब, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

Coronavirus (Covid-19): दुनिया में एक अरब से ज्यादा लोग हो सकते हैं, बेहद गरीब

इसका मुख्य कारण भारत की बड़ी आबादी की गरीब होना है। गरीबी के दलदल में फंसने वालों में, 30 प्रतिशत या 11.9 करोड़ अफ्रीका के सहारा मरुस्थलीय देशों में होंगे

COVID-19 कोरोनावायरस दुनिया भर में एक अरब से अधिक लोगों के गरीब होने का कारण बन सकता है। सबसे गरीब आबादी में 39.5 करोड़ लोगों में से आधे से अधिक दक्षिण एशिया (South Asia) से होंगे, एक हालिया रिपोर्ट में यह कहा गया है। रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण एशिया (South Asia) इलाके में सबसे अधिक गरीबी होगी और यह दुनिया का सबसे बड़ा क्षेत्र होगा।

यह भी पढ़ें - India GDP Growth Rate में आएगी तेजी, पढ़िए Fitch का अनुमान

दरअसल, King's College London और National University of Australia के शोधकर्ताओं ने एक अध्ययन में यह जानकारी दी। अध्ययन संयुक्त राष्ट्र विश्वविद्यालय के Global Development Economics Research Institute की एक नई जर्नल में प्रकाशित हुआ है।

अध्ययन के अनुसार, मध्यम आय वर्ग वाले विकासशील देशों में गरीबी सबसे ज्यादा बढ़ेगी जिससे वैश्विक स्तर पर गरीबी बढ़ जाएगी। अध्ययन के अनुसार, यदि प्रति दिन $ 1.90 की आय को गरीबी का मापक माना जाता है और यदि कोरोना महामारी 20 प्रतिशत तक गिरती है, तो 39.5 करोड़ बेहद गरीब श्रेणी में आ जाएगी। इनमें से आधे से ज्यादा लोग दक्षिण एशिया (South Asia) देशों के होंगे।

इसका मुख्य कारण भारत की बड़ी आबादी की गरीब होना है। गरीबी के दलदल में फंसने वालों में, 30 प्रतिशत या 11.9 करोड़ अफ्रीका के सहारा मरुस्थलीय देशों में होंगे। ऐसी स्थिति में दक्षिण एशिया (South Asia) और पूर्वी एशिया (East Asia) के विकासशील देशों में गरीबों की संख्या फिर से बढ़ सकती है। अध्ययन में कहा गया है कि कोरोना महामारी से उत्पन्न संकट के कारण दुनिया के गरीबों की संख्या एक अरब से अधिक हो सकती है।

बिजनेस न्यूज की नवीनतम समाचार, Business Knowledge,Banking,Insurance, Savings & Investment की Latest online news सबसे पहेले पढ़ें Onlinenews.live पर

यह भी पढ़ें - COVID-19 के इस दौर में मात्र 72 घंटे में मिलेगा EPF क्लेम, जानें क्या है पूरा प्रोसेस

Post a comment

0 Comments