एक जुलाई से पहले करें ये काम, वरना हो सकता है बड़ा नुकसान

एक July से पहले करें करें ये काम, अन्यथा इससे बड़ा नुकसान हो सकता है

एक जुलाई से पहले करें ये काम, वरना हो सकता है बड़ा नुकसान


एक जुलाई से पहले जरूर कर लें ये काम

कोरोना महामारी के कारण देश में लगभग तीन महीने से लॉकडाउन जारी है। हालांकि, सरकार ने जनजीवनन और अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कोरोना के तेजी से बढ़ते मामले के बीच इस लॉकडाउन में लोगों को एक निश्चित रियायत दी है। लॉकडाउन की छूट के बाद से देश के अधिकांश हिस्सों में जिंदगी पटरी पर लौटने लगा है।

सरकार ने आम लोगों को कुछ राहत देने के लिए कई घोषणाएं भी की हैं। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज, आरबीआई द्वारा लोन मोराटोरियम, आत्मनिर्भर भारत आर्थिक पैकेज सहित कई प्रकार की सहायता की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें - Covid - 19 :कोरोना जैसे संकट में, आप ले सकते हैं ये 5 तरह के लोन

इस सब के बीच, कोरोना वायरस के कारण, सरकार ने कई वित्तीय डेडलाइंस की समय-सीमाएं बढ़ा दीं हैं, जिन्हें 31 मार्च, 2020 से पहले पूरा करना था। उसे आगे बढ़ाकर 30 जून कर दिया।अब जून 30 जून का दूसरा सप्ताह हो रहा है, इसलिए यह जानना अच्छा होगा कि 1 जुलाई से पहले,यानी 30 जून, जो कि इस महीने की आखिरी तारीख तक कौन-कौन से काम पूरे कर लेना आवश्यक है। 

इन कार्यों में पैन आधार लिंक, साथ ही इनकम टैक्स रिटर्न से संबंधित कई कार्य शामिल हैं। यदि आप यह काम समय सीमा (30 जून) से पहले नहीं करते हैं, यानी 1 जुलाई से पहले, तो आप खो सकते हैं।

एक जुलाई से पहले करना होगा आपको इन महत्वपूर्ण काम




पैन से आधार को करें लिंक 

कोरोना संकट के कारण, सरकार ने पैन को आधार से लिंक करने की समय सीमा को 31 मार्च से 30 जून तक बढ़ा दिया। यदि आपने अभी तक अपने पैन कार्ड को आधार से लिंक नहीं किया है, तो कृपया जल्दी से यह काम पूरा कर लें, अन्यथा आपका पैन कार्ड 30 जून के बाद अमान्य हो जाएगा।


वर्ष 2018-19 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न भरें

यदि आपने अभी तक वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए आईटीआर पूरा नहीं किया है, तो आप इसे 30 जून से पहले दाखिल कर सकते हैं। इसके अलावा, रिवाइज्ड आईटीआर 30 जून से पहले भी दाखिल किया जा सकता है। दरअसल सरकार ने, कोरोना संकट के कारण, आईटीआर दर्ज करने की अंतिम तिथि 31 मार्च से 30 जून तक बढ़ा दी गई थी।


टैक्स छूट पाने के लिए करें निवेश 

कोविद 19 के कारण, आयकर विभाग ने 2019-20 वित्तीय वर्ष के लिए अंतिम आईटीआर दाखिल तिथि को 31 जुलाई से बढ़ाकर 30 नवंबर कर दिया है। वहीं, टैक्स को बचाने के लिए आयकर कानून की धारा 80 सी, 80 डी, 80 ई के तहत निवेश करने की समय सीमा 30 जून तक बढ़ा दी गई है। इसलिए, इस छूट का लाभ जल्दी से जल्दी उठाएं।




कंपनी से कर्मचारी ले लें Form 16

आमतौर पर, मई में, कर्मचारी कंपनी की ओर से फॉर्म 16 प्राप्त करते थे, लेकिन इस बार सरकार ने ऑर्डिनेंस द्वारा फॉर्म 16 को जारी करने की तारीख 15 जून से 30 जून के बीच कर दी है। फॉर्म 16 एक प्रकार का टीडीएस सर्टिफिकेट है, जो आईटीआर दाखिल करते समय आवश्यक होता है। ऐसी स्थिति में, आपको अपनी कंपनी से फॉर्म 16 लेना चाहिए।


PPF खाता हो गया है मैच्योर

यदि आपका PPF खाता 31 मार्च को मैच्योर हो गया है और आप उन खातों को अगले पांच वर्षों के लिए विस्तारित करना चाहते हैं, तो आप ऐसा 30 जून से पहले कर सकते हैं। डाक विभाग ने 11 अप्रैल को इसके बारे में एक परिपत्र जारी किया था।


PPF और सुकन्या समृद्धि के खाते में जमा करें पैसा 

यदि आपने 31 मार्च, 2020 से पहले पीपीएफ या सुकन्या समृद्धि के खाते में किसी भी प्रकार की कोई न्यूनतम राशि जमा नहीं की है, तो आप ऐसा 30 जून तक कर सकते हैं। न्यूनतम राशि जमा नहीं करने पर जुर्माने का प्रावधान है, जो वर्तमान में डाक विभाग द्वारा वापस ले लिया गया है।

बिजनेस न्यूज की नवीनतम समाचार, Business Knowledge,Banking,Insurance, Savings & Investment की Latest online news सबसे पहेले पढ़ें Onlinenews.live पर

यह भी पढ़ें - PM kisan - किसानों को आने वाली है 2000 रुपए की किस्त!, ऐसे चेक करें अपना नाम

Post a comment

0 Comments