क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड के लिए आज से बदल जाएंगे ये नियम, जानें क्या होगा आप पर असर

Credit card, Debit card के लिए आज से बदल जाएंगे ये नियम, जानिए आप पर इसका असर क्या होगा 

क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड के लिए आज से बदल जाएंगे ये नियम

आज से बदल जाएंगे क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड के ये नियम

Credit and Debit Card Rules to Be Effective from 1st October ये परिवर्तन 1 अक्टूबर 2020 से प्रभावी होंगे। RBI ने कार्ड लेनदेन की सुरक्षा और सुविधा में सुधार के लिए डेबिट और क्रेडिट कार्ड के लिए नए नियम जारी किए हैं।

Onlinenews ✔बैंकिंग धोखाधड़ी के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर, भारतीय रिजर्व बैंक ने डेबिट और क्रेडिट कार्ड की सुरक्षा के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। ये परिवर्तन 1 अक्टूबर 2020 से प्रभावी होंगे। RBI ने कार्ड लेनदेन की सुरक्षा और सुविधा में सुधार के लिए डेबिट और क्रेडिट कार्ड के लिए नए नियम जारी किए हैं।

यह भी पढ़ें - Bank Holidays in October 2020 - अगले महीने आने वाली बहुत सारी छुट्टियां

नए दिशानिर्देशों के तहत, कार्ड उपयोगकर्ता अब अंतरराष्ट्रीय लेनदेन, ऑनलाइन लेनदेन और संपर्क रहित कार्ड लेनदेन के लिए प्राथमिकताएं (ऑप्ट-इन या सेवाओं से ऑप्ट-आउट, खर्च की सीमाएं आदि) दर्ज कर सकेंगे। इसलिए, बैंकों द्वारा जारी किए गए डेबिट और क्रेडिट कार्ड केवल एटीएम और बिक्री बिंदु (पीओएस) टर्मिनलों पर घरेलू लेनदेन के लिए सक्षम होंगे। बैंक मौजूदा कार्डों को निष्क्रिय कर सकते हैं और जोखिम की धारणा के आधार पर उन्हें फिर से जारी कर सकते हैं।

RBI ने सभी बैंकों और अन्य कार्ड जारी करने वाली कंपनियों को सभी डेबिट और क्रेडिट कार्ड ऑनलाइन भुगतान सेवाओं को अक्षम करने के लिए कहा है, जिनका उपयोग भारत और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ऑनलाइन या संपर्क रहित लेनदेन के लिए कभी नहीं किया गया है। यदि कार्डधारक भारत के बाहर क्रेडिट या डेबिट कार्ड का उपयोग करना चाहता है, तो उन्हें बैंक से अंतर्राष्ट्रीय लेनदेन को सक्षम करने के लिए पूछना होगा। विशेषज्ञों का मानना ​​है कि नई सुविधा से  कार्ड क्लोनिंग से धोखाधड़ी कम होगी।

यह भी पढ़ें - 1 अक्टूबर से बदल जाएंगी लोन रेट, ई-चालान से लेकर ये पांच चीजें, आप भी होंगे प्रभावित

कार्डधारक एनएफसी (संपर्क रहित) सुविधा को सक्षम और अक्षम कर सकते हैं, जो वर्तमान में बिना पिन के 2,000 रुपये प्रतिदिन की सीमा है। कार्डधारक कई लेनदेन पर एक सीमा भी निर्धारित कर सकेंगे।

कार्डधारकों के लिए लाभ:

अंतर्राष्ट्रीय व्यय प्रबंधन - कई अंतर्राष्ट्रीय ई-कॉमर्स वेबसाइट सीवीवी पिन के लिए नहीं पूछती हैं या लेनदेन की पुष्टि करने के लिए एक बार का पासवर्ड (ओटीपी) भेजती हैं। यह नया कदम अंतरराष्ट्रीय उपयोग को प्रतिबंधित करेगा या लेनदेन की सुरक्षा की गारंटी देगा।

वित्तीय अनुशासन:

ये सुविधाएँ उपयोगकर्ताओं को लेनदेन के प्रकार से खर्च करने की अनुमति देंगी।

बिजनेस न्यूज की नवीनतम समाचार, Business Knowledge,Banking,Insurance, Savings & Investment की Latest online news सबसे पहेले पढ़ें Onlinenews.live पर

Calculate Love Percentage with True Love Online - Click Here

Post a comment

0 Comments