किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) बनाने में बैंक करे आनाकानी तो यहां करें शिकायत

KCC बनाने में बैंक करे आनाकानी तो यहां शिकायत करें

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) बनाने में बैंक करे आनाकानी तो यहां करें शिकायत
Kisan Credit Card (KCC)

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) बनवाना बेहद आसान है।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत, देश में 11 करोड़ किसानों के भूमि रिकॉर्ड और उनके बायोमेट्रिक केंद्र सरकार के पास हैं। जो लोग इस योजना का लाभ ले रहे हैं, उनके लिए किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) बनवाना बेहद आसान है।

Onlinenews| पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत, देश में 11 करोड़ किसानों के भूमि रिकॉर्ड और उनके बायोमेट्रिक केंद्र सरकार के पास हैं। जो लोग इस योजना का लाभ ले रहे हैं, उनके लिए किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) बनवाना बेहद आसान है। मोदी सरकार चाहती है कि इस योजना के सभी लाभार्थी के पास के.सी.सी. भी हो, इसके लिए, सरकार ने मार्च 2021 तक देश में 15 लाख करोड़ रुपये के कृषि लोन वितरित करने का लक्ष्य रखा है। वर्तमान में, देश में लगभग 8 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड धारक हैं। 

यह भी पढ़ें - सिर्फ 4% की दर से मिलता है 5 लाख तक का KCC लोन, इस तरह करें आवेदन

बैंक करते हैं आनाकानी

हालांकि, कई किसान केसीसी के प्रति बैंकों के रवैये से परेशान हैं। किसानों का आरोप है कि बैंक कार्ड बनाने के लिए आनाकानी करते हैं और कार्ड धारकों को लोन नहीं देते हैं। इस मामले में हम आपको समाधान बताने जा रहे हैं। यदि पात्र होने के बावजूद कोई बैंक किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बनाता है, तो किसान शिकायत ऐसी जगह कर सकते हैं, जहां से उस बैंक की क्लास लग जाएगी। 

यहां करें शिकायत 

भारतीय रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों के अनुसार, बैंक को किसान के अनुरोध के 15 दिनों के भीतर यह कार्ड जारी करना होगा। यदि कार्ड 15 दिनों के भीतर जारी नहीं किया जाता है, तो आप बैंक के खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकते हैं। इसके लिए आप बैंकिंग लोकपाल से संपर्क कर सकते हैं। आपको बैंकिंग लोकपाल के पास शिकायत दर्ज करनी चाहिए जिसके अधिकार क्षेत्र में बैंक की शाखा या कार्यालय स्थित है। इसके अलावा आप RBI की आधिकारिक वेबसाइट https://cms.rbi.org.in/ पर जा सकते हैं। वहीं, किसान क्रेडिट कार्ड हेल्पलाइन नंबर 0120-6025109 / 155261 और ग्राहक के ईमेल (pmkisan-ict@gov.in) के माध्यम से भी हेल्प डेस्क से संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें - Credit Card लोन से हैं परेशान, तो फॉलो करें ये टिप्स, बन जाएगी बात

अब आपको बता दें कि केसीसी सिर्फ कृषि तक सीमित नहीं है। इस योजना के तहत, पशुपालन और मछलीपालन के लिए 2 लाख रुपये तक के ऋण भी उपलब्ध होंगे। खेती-किसानी, मछलीपालन और पशुपालन से जुड़ा कोई भी व्यक्ति यहाँ तक कि किसी और की ज़मीन पर खेती करना भी इसका लाभ उठा सकता है। न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम 75 वर्ष होनी चाहिए।

चार प्रतिशत ब्याज पर ऋण

केसीसी के तहत, 3 लाख रुपये तक के ऋण केवल 7% ब्याज पर उपलब्ध हैं। यदि आप समय पर पैसा वापस करते हैं, तो 3 प्रतिशत की छूट है। इस तरह, ईमानदार किसानों को केवल 4% ब्याज पर पैसा मिलता है।

बिजनेस न्यूज की नवीनतम समाचार, Business Knowledge, Banking,Insurance, Savings & Investment की Latest online news सबसे पहेले पढ़ें Onlinenews.live पर

Calculate Love Percentage with True Love Online - Click Here

Post a comment

0 Comments