काशी का गौरव: संस्कृत में मारी बाजी और PM मोदी को किया प्रभावित

12 साल का नवरत्न: जिसने संस्कृत में PM मोदी को किया प्रभावित पीएम मोदी का दिल जीता!

varanasi-who-is-12-year-old-navratna-with-whom-pm-modi-varanasi-visit-impressed-called-gave-blessings-bjp-kashi-banaras-big-news
PM Modi News (फोटो-News18)

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी में 12 साल के नवरत्न नाम के छात्र से काफी प्रभावित हुए. नवरत्न ने काशी संसद संस्कृत प्रतियोगिता में संस्कृत व्याकरण में प्रथम स्थान प्राप्त किया था। PM Modi ने नवरत्न को अपने पास बुलाया, उनकी पीठ थपथपाई और उनसे बातचीत की. उन्होंने नवरत्न को आशीर्वाद देते हुए कहा कि तुमने बहुत अच्छा काम किया है और तुम्हें आगे भी ऐसे काम करते रहना है.

नवरत्न ने क्या कहा?

PM Modi से मुलाकात के बाद नवरत्न ने कहा कि आज का दिन उनके जीवन का यादगार दिन बन गया है. उन्होंने कहा कि PM Modi ने उनसे संस्कृत के बारे में कई सवाल पूछे और उनका हौसला बढ़ाया. नवरत्न ने कहा कि उन्हें PM Modi की बातों से प्रेरणा मिली है और वह भविष्य में भी संस्कृत भाषा के लिए योगदान देते रहेंगे.

काशी मप्र संस्कृत प्रतियोगिता

काशी विश्वनाथ मंदिर में काशी संसद संस्कृत प्रतियोगिता का आयोजन किया गया. इसमें वाराणसी के सभी संस्कृत विद्यालयों के विद्यार्थियों ने भाग लिया। इनमें करीब 1500 प्रतिभागी शामिल थे. इनमें सफल छात्रों को काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट की ओर से पोशाक और संस्कृत पुस्तकें भेंट की गईं।

PM Modi ने क्या कहा?

PM Modi ने कहा कि काशी, जो समय से भी पुरानी कही जाती है, जिसकी पहचान को हमारी आधुनिक युवा पीढ़ी इतनी जिम्मेदारी से मजबूत कर रही है. ये दृश्य मन को संतुष्टि भी देता है, गर्व की अनुभूति भी देता है और विश्वास भी दिलाता है कि अमृतकाल में आप सभी युवा देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे। और काशी समस्त ज्ञान की राजधानी है। आज काशी की वो शक्ति, वो स्वरूप फिर से उभर कर सामने आ रहा है। ये पूरे भारत के लिए गर्व की बात है.

उन्होंने कहा कि मैं सभी विजेताओं को उनकी कड़ी मेहनत, उनकी प्रतिभा के लिए बधाई देता हूं, मैं उनके परिवारों और उनके शिक्षकों को भी बधाई देता हूं। कुछ युवा ऐसे भी होंगे जो सफलता से कुछ कदम दूर हों, कुछ 4 पर अटक गए हों। मैं उनको भी बधाई देता हूं। आप काशी की ज्ञान परंपरा का हिस्सा बने और उसकी प्रतियोगिता में भी भाग लिया। ये अपने आप में बहुत बड़ा गौरव है. आपमें से कोई भी हारा नहीं है या पीछे नहीं छूटा है। इस भागीदारी से आप बहुत सी नई चीजें सीखकर कई कदम आगे बढ़े हैं।

निष्कर्ष

12 साल के नवरत्न अपनी प्रतिभा और समर्पण से PM Modi को प्रभावित करने में सफल रहे. इससे पता चलता है कि युवा पीढ़ी में भी संस्कृत भाषा के प्रति रुचि बढ़ रही है।

PM Modi काशी दौरा: काशी में संकल्प से सिद्धि मंत्र को फिर साकार करेंगे PM Modi

Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url