BJP के स्रोतों के अनुसार, दोपहर में पार्टी 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए पहली बैच के कैंडिडेट्स की घोषणा करेगी। पार्टी प्रेस कॉन्फ़्रेंस का आयोजन कैंडिडेट्स के नामों को खुलासा करने के लिए किया जाएगा।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 1-2 मार्च, 2024 को झारखंड, पश्चिम बंगाल और बिहार का दौरा करेंगे।

2024-lok-sabha-election-bjp-first-list-pm-modi-amit-shah-bjp-may-release-100-name-first-list-for-polls-after-midnight-meet-sources

ABP Live के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह पहली कैंडिडेट्स के सूची में शामिल होने की संभावना है। दोनों नेताओं का अपने पिछले सीटों से चुनाव लड़ने की संभावना है, जैसे की वाराणसी और गांधीनगर।

पहली सूची में उत्तर प्रदेश के कुछ महत्वपूर्ण सीटों के कैंडिडेट्स का भी खुलासा होगा, जैसे की अयोध्या, प्रयागराज, आजमगढ़, और गोरखपुर।

कुछ बैठे हुए सांसदों को उम्र, प्रदर्शन, और स्थानीय विरोध जैसे विभिन्न कारकों के कारण टिकट प्राप्त करने में कठिनाई हो सकती है, स्रोतों के अनुसार। इसमें कानपुर से सत्यदेव पचौरी, प्रयागराज से रिता भौगुना जोशी, गोंडा से बृज भूषण शरण सिंह, और बदायूं से संघमित्रा मौर्या शामिल हैं।

एक और सीट जिसे ध्यान से देखा जाएगा, वह है पीलीभीत, जहां वरुण गांधी, जो मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ अभिव्यक्त रहे हैं, वर्तमान सांसद हैं।

पहली सूची में हाल ही में BJP में शामिल हुए पूर्व बीएसपी सांसद ऋतेश पांडे का भी भविष्य तय हो सकता है।

पहली सूची की घोषणा इसके बाद हुई है कि BJP की केंद्रीय चुनाव समिति (CEC) ने बुधवार रात को चार घंटे तक मुख्यमंत्री मोदी की अध्यक्षता में मुलाकात की। इस मुलाकात में BJP के अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री अमित शाह और राजनाथ सिंह, और BJP शासित राज्यों के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मोहन यादव, विष्णु देव साई, पुष्कर सिंह धामी, और प्रमोद सावंत जैसे वरिष्ठ पार्टी नेता शामिल थे।

CEC की बैठक आमतौर पर विभिन्न राज्यों से लोकसभा चुनाव के लिए कैंडिडेट्स को चर्चा और अंतसूची करने के लिए होती है।

पहली सूची में पार्टी के जो कैंडिडेट्स का उद्देश्य है कि उन्हें जीतें या जमा रखें, जो 2019 के चुनावों में हार गए थे, पीटीआई की रिपोर्ट में दावा किया गया।

कुछ केंद्रीय मंत्रियों, जैसे की भूपेंद्र यादव, धर्मेंद्र प्रधान, और मनसुख मांडविया, भी लोकसभा चुनाव में चुनाव लड़ सकते हैं, जिन्हें हाल ही में समाप्त हुए राज्यसभा चुनावों के लिए नामित नहीं किया गया था।

चीन का झंडा इसरो के विज्ञापन में: पीएम मोदी ने डीएमके को फटकारा, पार्टी ने दिया जवाब